Wednesday, July 24, 2024
Homeभारतजयपुर: गहलोत कैबिनेट की मीटिंग आज, इन एजेंडों पर लगेगी मुहर. 4...

जयपुर: गहलोत कैबिनेट की मीटिंग आज, इन एजेंडों पर लगेगी मुहर. 4 अगस्त 2023 की सभी बड़ी खबरें..!!

जयपुर: मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज मंत्रिपरिषद और मंत्रिमंडल की बैठक बुलाई है। मुख्यमंत्री निवास पर सीएम गहलोत की अध्यक्षता में बैठक आयोजन किया जाएगा। इस बैठक में नए जिलों के प्रारूप की अधिसूचना पर मुहर लग सकती है। साथ ही बैठक में अन्य कई मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। वहीं जयपुर में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने बड़ा धमाका किया है। ACB ने महिला आबकारी निरीक्षक को ट्रैप किया है। एसीबी ने अंकिता माथुर को 3 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा है।.

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने आज कैबिनेट की मीटिंग बुलाई है

मुख्यमंत्री निवास पर सीएम गहलोत की अध्यक्षता में दोपहर 12 बजे बैठक होगी। इस बैठक में नए जिलों के प्रारूप की अधिसूचना पर मुहर लग सकती है। साथ ही, बैठक में अन्य कई मुद्दों पर चर्चा की जाएगी। बैठक में हुए निर्णयों की जानकारी खुद मुख्यमंत्री प्रेस कॉन्फ्रेंस कर देंगे। तय कार्यक्रम के अनुसार दोपहर 1:00 बजे सीएम गहलोत कॉन्फ्रेंस करेंगे और पूरे मामले की जानकारी देंगे। माना जा रहा है कि इस बैठक के बाद नए जिलों के प्रारूप को लेकर जो खाका तैयार हुआ है, उसकी अधिसूचना जारी करने को लेकर मुख्यमंत्री गहलोत घोषणा कर सकते हैं और इसके बाद प्रदेश में नए जिले प्रशासनिक दृष्टि से कामकाज के लिए अस्तित्व में आ सकते हैं। गौरतलब है कि प्रदेश में 19 नए जिलों की घोषणा के बाद लंबे समय से अधिसूचना जारी होने का इंतजार है।.

File Photo

8 लाख तक की आय वालों को नहीं देना होगा प्रीमियम:

चुनावी साल में गहलोत सरकार आए दिन प्रदेशवासियों को नई-नई सौगातें देने में लगी हुई है। इसी कड़ी में अब मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने प्रदेशवासियों को एक और बड़ी सौगात दी है। मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना में अब आठ लाख तक की आय वाले लोगों को 850 रुपए का प्रीमियम नहीं देना पड़ेगा। अंगदान महाअभियान के शुभारंभ समारोह के दौरान सीएम गहलोत ने यह घोषणा की। इस मौके पर मुख्यमंत्री ने अंगदान महाअभियान के तहत 220 करोड़ की लागत से 148 व 551 करोड़ की लागत से 101 चिकित्सा संस्थानों के निर्माण कार्यों का शिलान्यास व लोकार्पण किया। साथ ही 10 चिरंजीवी, 104 जननी एक्सप्रेस एम्बुलेंस व 25 मोबाइल फ़ूड टेस्टिंग लैब का शुभारंभ किया। इस मौके पर सीएम गहलोत ने कहा कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना में अब आठ लाख तक की आय वाले लोगों को 850 रुपए का प्रीमियम नहीं देना पड़ेगा, उनका प्रीमियम अब सरकार भरेगी। अब तक चिरंजीवी योजना में खाद्य सुरक्षा योजना में शामिल और बीपीएल परिवारों का फ्री बीमा हो रहा था। अब आठ लाख तक की आय वाले हर कैटेगरी के लोगों का फ्री बीमा होगा।

File Photo

भीलवाड़ा कांड पर वसुंधरा ने CM गहलोत को घेरा:

भीलवाड़ा जिले के कोटड़ी गांव में एक नाबालिग को कोयले की भट्टी में जिंदा जलाने का मामला सामने आने के बाद फिर से सियासत शुरू हो गई है। मामले को लेकर भाजपा और कांग्रेस के नेताओं ने एकदूसरे पर जुबानी हमलावर बोलना शुरू कर दिया है। भाजपा बढ़ते अपराध और महिला अत्याचारों को लेकर लगातार कांग्रेस को घेर रही है। वहीं कांग्रेस नेताओं ने भी केंद्र सरकार को घेरते हुए इस तरह की घटनाओं को लेकर सख्त कानून बनाने की मांग की है। पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने कहा है कि भीलवाड़ा में एक मासूम बच्ची के साथ गैंगरेप और भट्टी में जिंदा जला देने की घटना ने फिर सिद्ध कर दिया है कि राजस्थान महिलाओं के लिए सबसे असुरक्षित प्रदेश बन गया है। राजे ने कहा कि सीएम गहलोत आंकड़ों की आड़ में कब तक ऐसी घटनाओं को छिपाते रहेंगे? उन्हें नैतिकता निभाते हुए बहन-बेटियों की अस्मत बचाते हुए न्याय दिलाना चाहिए। वही भीलवाड़ा मामले में भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सीपी जोशी ने कहा कि जो सरकार बच्चियों और नारी की सुरक्षा नहीं कर सकती है, वो भला आमजन की सुरक्षा कैसे करेगी? उन्होंने कहा कि जब सीएम से गृह मंत्रालय नहीं संभल रहा है तो कुर्सी से क्यों चिपके हैं। उन्हें तुरंत इस्तीफा दे देना चाहिए। इतना ही नहीं भाजपा ने इस मामले में प्रदेश स्तरीय तीन सदस्यीय कमेटी का गठन कर सदस्यों को मौके पर भेजा है.

भीलवाड़ा में नाबालिग से गैंगरेप मामले में होगी जांच:

भीलवाड़ा में नाबालिग लड़की का जला हुआ शव मिलने के प्रकरण में राष्ट्रीय महिला आयोग का दल जांच करेगा. राष्ट्रीय महिला आयोग सदस्य डेलिना खोंगडूप भीलवाड़ा आएंगी. उनके साथ आयोग में JTE निधि आर्य भी आएंगी. आपको बता दें कि भीलवाड़ा में मासूम बच्ची को भट्टी में जलाने के मामले को लेकर पुलिस एक्शन मोड में है. प्रशासन की टीम के साथ आरोपियों के डेरों पर बुलडोजर चला है. बता दे की इस भट्टी कांड का पुलिस ने 10 घंटे के अंदर ही खुलासा कर दिया है। गैंगरेप और जघन्य हत्याकांड के चार आरोपियों को पुलिस ने देर रात गिरफ्तार कर लिया है। पकड़े गए आरोपियों में दो सगे भाई है। पूछताछ में खुलासा हुआ है कि पहले कालबेलिया परिवार के चार लोगों ने नाबालिग के साथ गैंगरेप की वारदात को अंजाम दिया और फिर हत्या कर दी। इसके बाद परिवार के लोगों ने पड़ोसी लोगों की सहायता से बच्ची को कोयले की भट्टी में जलाकर राख कर दिया। पुलिस ने इस मामले में पत्नी, बहन, मां और पिता सहित 10 लोगों को आरोपियों बनाया है। जिनमें से चार को गिरफ्तार कर लिया गया है। वहीं, अन्य आरोपियों की तलाश जारी है।.

पीएम 8 को भाजपा सांसदों से चुनावी तैयारियों पर करेंगे चर्चा:

पीएम नरेंद्र मोदी 8 अगस्त को प्रदेश के 24 लोकसभा सांसदों और 4 राज्यसभा सांसदों से विधानसभा चुनाव की तैयारियों पर चर्चा कर सकते हैं। उधर, पीएम नरेंद्र मोदी अगस्त में एक या दो बार चुनावी सभाएं कर सकते हैं। किस जिले में सभा होगी? इस पर मुहर लगनी शेष है। वही नागौर, जोधपुर, करौली, हाड़ौती रीजन के जिलों में से सभा के लिए चयन होना है। मारवाड़ के किसी जिलों को इस माह सभा के लिए चुना जा सकता है। सीएम के गृह जिले जोधपुर में पीएम के दौरे और एम्स विस्तार से लेकर कई योजनाओं का शिलान्यास भी हो सकता है।.

चुनावी साल में ग्रेड-थर्ड टीचर्स को मिल सकती है राहत:

राजस्थान में ग्रेड थर्ड टीचर्स के ट्रांसफर सरकार के लिए परेशानी का कारण बनते जा रहे हैं। पिछले साढ़े 4 साल से ट्रांसफर का इंतजार कर रहे टीचर्स ने अब सरकार के खिलाफ आर-पार की लड़ाई का ऐलान कर दिया है। ऐसे में माना जा रहा है कि चुनावी साल में सरकार टीचर्स को खुश करने के लिए एक बार फिर ट्रांसफर इसे बैन हटाने की तैयारी कर रही है। बता दे की पिछले साल शिक्षा विभाग द्वारा नई ट्रांसफर पॉलिसी तैयार कर कार्मिक विभाग को भेजी गई थी। लेकिन, डीओपी ने पॉलिसी में संशोधन के लिए उसे लौटा दिया था। इसके बाद एजुकेशन डिपार्टमेंट ने देशभर में दूसरे राज्यों की ट्रांसफर पॉलिसी का अध्ययन कर संशोधित पॉलिसी को फिर से डीओपी को भेजा है। जिसके लेकर अब तक कोई फैसला नहीं हो पाया है। ऐसे में चुनावी साल में सरकार ट्रांसफर से बैन खुलने के साथ ही ग्रेड थर्ड टीचर्स का ट्रांसफर भी कर सकती है। हालांकि इसको लेकर आखरी फैसला CM अशोक गहलोत के स्तर पर होगा। ऐसे में कैबिनेट बैठक में भी ट्रांसफर पॉलिसी को लेकर मंथन किया जा सकता है।.

जयपुर में ACB की बड़ी कार्रवाई:

जयपुर में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (ACB) ने बड़ा धमाका किया है. ACB ने महिला आबकारी निरीक्षक को ट्रैप किया है. एसीबी ने अंकिता माथुर को 3 लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों दबोचा है. जानकारी के अनुसार शराब का ठेका चलाने देने की एवज में 10 लाख की घूस मांगी गई थी.तीन किश्तों में 10 लाख रुपए लेना तय हुआ था. पूरे मामले में एक शख्स की भी भूमिका संदिग्ध है. बता दे की ACB की टीम ने श्याम नगर में कार्रवाई को अंजाम दिया है . एडिशनल एसपी राजेन्द्र नैन की टीम ने कार्रवाई को अंजाम दिया. DG हेमंत प्रियदर्शी, DIG रणधीर सिंह के निर्देश पर ये कार्रवाई हुई है।.

संसद के मानसून सत्र का आज 12वां दिन:

संसद के मानसून सत्र का आज 12वां दिन है। मणिपुर मुद्दे पर संसद में हंगामा जारी है। इस बीच लोकसभा और राज्यसभा में बिल भी पास हो रहे हैं। 3 अगस्त को लोकसभा में दिल्ली सर्विस बिल पास हो गया। इस पर अरविंद केजरीवाल ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा कि बीजेपी राष्ट्रीय राजधानी के लोगों की पीठ में छुरा घोंपने का काम कर रही है। इस बिल (द गवर्नमेंट ऑफ नेशनल कैपिटल टैरिटरी ऑफ दिल्ली बिल) से दिल्ली के अफसरों की ट्रांसफर-पोस्टिंग का अधिकार केंद्र सरकार को मिल जाएगा। वही जानकारी के अनुसार सरकार मणिपुर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार हो गई है। ये चर्चा 11 अगस्त को होगी। वहीं, कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने दावा किया कि मणिपुर पर गतिरोध खत्म करने के लिए सदन के नेता को एक बीच के रास्ते का प्रस्ताव दिया है। बता दे की कहा गया है कि सरकार मणिपुर मुद्दे पर चर्चा के लिए तैयार हो गई है। ये चर्चा 11 अगस्त को होगी। इसी मानसून सत्र का आखिरी दिन है। वहीं, कांग्रेस नेता जयराम रमेश ने दावा किया कि मणिपुर पर गतिरोध खत्म करने के लिए सदन के नेता को एक बीच के रास्ते का प्रस्ताव दिया है।.

ASI की टीम ज्ञानवापी पहुंची, प्रदेश में हाईअलर्ट:

वाराणसी के ज्ञानवापी परिसर का भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण (ASI) की टीम ने सर्वे शुरू कर दिया है। इस बार ASI टीम में 61 सदस्य हैं। यानी पिछली बार की तुलना में 40 सदस्य ज्यादा है । ज्ञानवापी परिसर को 4 ब्लॉक में बांटा गया है। चारों तरफ कैमरे लगाए हैं। वीडियोग्राफी की जा रही है। ज्ञानवापी की पश्चिम दीवार पर सबसे ज्यादा फोकस है। दीवार की बारीक स्कैनिंग की जा रही है। कलाकृतियों को देखा जा रहा है। ASI के साथ हिंदू पक्ष अंदर गया है। जबकि मुस्लिम पक्ष ने सर्वे में शामिल होने से इनकार कर दिया है। मुस्लिम पक्ष ज्ञानवापी नहीं पहुंचा। जुमा को देखते हुए प्रदेश में हाईअलर्ट रखा गया है। ज्ञानवापी के आसपास भारी संख्या में फोर्स तैनात की गई है। बता दे की गुरुवार को इलाहाबाद हाई कोर्ट ने ASI को ज्ञानवापी के वैज्ञानिक सर्वे की अनुमति दी थी। वही अपर जिला मजिस्ट्रेट (नगर) आलोक कुमार वर्मा ने हिंदू पक्ष के 7 और मुस्लिम पक्ष के 9 लोगों को सर्वे टीम के साथ अंदर जाने की अनुमति दी है।

आंखों के फ्लू ने लगाया लोगों की सेहत में ‘अड़ंगा:

प्रदेश में हुई बारिश के बाद अब मौसमी बीमारियों के मरीजों की संख्या अस्पतालों में बढ़ती जा रही है। डेंगू और आई फ्लू ने सबसे ज्यादा परेशानी खड़ी कर दी है। डेंगू जानलेवा बनता जा रहा है तो बाजार में आई फ्लू की दवा की कमी आ गई है। राजस्थान में आई फ्लू का प्रकोप लगातार बढ़ता जा रहा है। बच्चे, बुजुर्गों से लेकर महिलाएं और युवा सभी आई फ्लू से पीड़ित हैं। पिछले एक हफ्ते के दौरान शहर की दवा दुकानों से आई ड्रॉप का स्टॉक खत्म होने लगा है। वही प्रदेश के सरकारी अस्पताल सहित निजी अस्पतालों में भी पीलिया, डेंगू, आईफ्लू के मरीज अपना इलाज करवाने पहुंच रहे हैं। एसएमएस अस्पताल की ओपीडी में प्रतिदिन 4 हजार से ज्यादा मरीज इन बीमारियों से पीड़ित पहुंच रहे हैं। ओपीडी में बढ़ते मरीज पीलिया, वायरल, खांसी, सर्दी जुकाम, पेट दर्द, जैसी बीमारियों से परेशान हैं। दूसरी ओर आई फ्लू के साथ ही डेंगू के मामलों में भी बढ़ोतरी हुई है। मिली जानकारी के अनुसार अब डेंगू जानलेवा बन गया है। जमवारामगढ़ में अड़सठ वर्षीय एक व्यक्ति की डेंगू से मौत हो गई। इस साल राजस्थान में डेंगू से होने वाली ये पहली मौत बताई जा रही है

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments