Wednesday, May 22, 2024
More
    Homeताजा खबरITPO परिसर :  प्रधानमंत्री मोदी 26 जुलाई को कर सकते हैं उद्घाटन

    ITPO परिसर :  प्रधानमंत्री मोदी 26 जुलाई को कर सकते हैं उद्घाटन

    दिल्ली। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी 26 जुलाई को यहां पुनर्विकसित भारतीय व्यापार संवर्धन संगठन (ITPO) परिसर का उद्घाटन कर सकते हैं, जहां सितंबर में G20 नेताओं की बैठक का आयोजन किया जाएगा। सूत्रों के अनुसार पीएम नरेंद्र मोदी इस परिसर के उद्घाटन के लिए जा सकते हैं

    परिसर की विशेषताएं

    आईटीपीओ परिसर को प्रगति मैदान परिसर के नाम से भी जाना जाता है। 123 एकड़ क्षेत्र में फैला यह परिसर बैठकों, सम्मेलनों और प्रदर्शनियों के आयोजन के लिए भारत का सबसे बड़ा स्थल है। सिंतबर में होने वाली G 20 की बैठक का आयोजन इसी परिसर में किया जाएगा सूत्रों के मुताबिक, जहां तक कार्यक्रमों के लिए उपलब्ध बंद जगहों का सवाल है, तो आईटीपीओ परिसर का पुनर्विकसित तथा आधुनिक आईईसीसी (इंटरनेशनल एग्जिबिशन कम कन्वेंशन सेंटर) परिसर दुनिया के शीर्ष 10 प्रदर्शनी और सम्मेलन परिसरों में से एक है। जानकारी के अनुसार सम्मेलन केंद्र के ‘लेवल-3’ पर 7,000 लोगों के बैठने की क्षमता है, जो इसे ऑस्ट्रेलिया के ऐतिहासिक सिडनी ओपेरा हाउस से अधिक बड़ा बनाता है, जहां तकरीबन 5,500 लोगों के बैठने की व्यवस्था है। अधिकारियों के अनुसार, यह विशेषता IECC को वैश्विक पैमाने पर बड़े सम्मेलन, अंतरराष्ट्रीय शिखर सम्मेलन और सांस्कृतिक कार्यक्रम आयोजित करने के लिए उपयुक्त स्थान बनाती है। लगभग 123 एकड़ के परिसर क्षेत्र के साथ, प्रगति मैदान परिसर गर्व से भारत के सबसे बड़े एमआईसीई (बैठकें, प्रोत्साहन, सम्मेलन और प्रदर्शनियां) स्‍थल का खिताब रखता है. आयोजनों के लिए उपलब्ध कवर किए गए स्थान के संदर्भ में, पुनर्विकसित और आधुनिक IECC कॉम्प्लेक्स दुनिया के शीर्ष 10 प्रदर्शनी और कन्वेंशन कॉम्प्लेक्स में अपना स्थान रखता है, जो जर्मनी में हनोवर प्रदर्शनी केंद्र, शंघाई में राष्ट्रीय प्रदर्शनी और कन्वेंशन सेंटर (NECC) जैसे विशाल नामों को कड़ी टक्कर देता है. IECC के कद और बुनियादी ढांचे की विशालता बड़े पैमाने पर विश्व स्तरीय आयोजनों की मेजबानी करने की भारत की क्षमता का प्रमाण है. कन्वेंशन सेंटर के लेवल 3 पर, 7,000 व्यक्तियों की बैठने की भव्य क्षमता है, जो ऑस्ट्रेलिया में प्रतिष्ठित सिडनी ओपेरा हाउस की 5500 की तुलना में इसे बैठने की क्षमता से भी बड़ा बनाती है. यह प्रभावशाली विशेषता IECC को वैश्विक स्तर पर मेगा सम्मेलनों, अंतरराष्ट्रीय शिखर सम्मेलनों और सांस्कृतिक समारोहों की मेजबानी के लिए उपयुक्त स्थान के रूप में स्थापित करती है.

    उन्होंने बताया कि प्रदर्शनी सभागारों में उत्पाद, नवोन्मेष और नये विचारों का प्रदर्शन करने के लिए सात आधुनिक स्थल हैं। इसके साथ ही आईईसीसी में एक बड़ी रंगभूमि है, जिसमें 3,000 लोगों के बैठने की क्षमता है। अधिकारियों के मुताबिक, आईईसीसी आने वाले लोगों की सुविधा शीर्ष प्राथमिकता है और इसके लिए वहां 5,500 से अधिक वाहनों की पार्किंग की व्यवस्था की गई है।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -
    Google search engine

    Most Popular

    Recent Comments