Friday, May 24, 2024
More
    Homeताजा खबरमहाराष्ट्र में बड़ा हादसा, क्रेन गिरने से 17 श्रमिकों की मौत

    महाराष्ट्र में बड़ा हादसा, क्रेन गिरने से 17 श्रमिकों की मौत

    मुंबई। महाराष्ट्र के ठाणे जिले में समृद्धि एक्सप्रेसवे निर्माण के दौरान हादसा हो गया. हादसे में क्रेन एक स्लैब (पट्टी) पर गिर गई. इस हादसे में 17 श्रमिकों की मौत हो गई और तीन अन्य लोग गंभीर रुप से घायल हो गए. NDRF के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘कुछ लोगों के अब भी फंसे होने की आशंका है और उन्हें बचाने के प्रयास किए जा रहे हैं।’’ हादसे में घायल हुए तीन लोगों को ठाणे के कलवा स्थित छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल में भर्ती कराया गया.

    महाराष्ट्र के उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हादसे पर ट्वीट करते हुए कहा कि उन्होंने इस घटना की विशेषज्ञों से जांच कराने के आदेश दिए हैं. फडणवीस ने हादसे में श्रमिकों के मारे जाने पर शोक भी जताया. हादसे का कारण बनी क्रेन एक विशेष प्रयोजन वाली ‘मोबाइल गैन्ट्री क्रेन’ थी, जिसका उपयोग पुल निर्माण और राजमार्ग निर्माण परियोजनाओं में पूर्वनिर्मित डिब्बानुमा पुल की डाट (गर्डर) लगाने के लिए किया जाता था. जानकारी के अनुसार यह दुर्घटना मंगलवार तड़के मुंबई से करीब 80 किलोमीटर दूर शाहपुर तहसील के सरलांबे गांव के पास हुई. समृद्धि महामार्ग को ‘हिंदू हृदयसम्राट बालासाहेब ठाकरे महाराष्ट्र समृद्धि महामार्ग’ के नाम से जाना जाता है.यह मुंबई और नागपुर को जोड़ने वाला 701 किलोमीटर लंबा एक्सप्रेसवे है, जो नागपुर, वाशिम, वर्धा, अहमदनगर, बुलढाणा, औरंगाबाद, अमरावती, जालना, नासिक और ठाणे सहित 10 जिलों से होकर गुजरता है. इस एक्सप्रेस-वे का निर्माण महाराष्ट्र राज्य सड़क विकास निगम द्वारा किया जा रहा था.

    नागपुर को शिरडी से जोड़ने वाले इस एक्सप्रेस-वे के पहले चरण का उद्घाटन पीएम मोदी ने दिसंबर 2022 में किया था. पहले चरण के निर्माण के तहत 520 किलोमीटर लंबा मार्ग बनाया गया है. महाराष्ट्र के सीएम एकनाथ शिंदे और उपमुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने 26 मई को इगतपुरी तालुका के भारवीर गांव से शिरडी तक समृद्धि महामार्ग के 80 किलोमीटर लंबे दूसरे चरण का उद्घाटन किया था. एक अधिकारी से मिली जानकारी के अनुसार महाराष्ट्र में समृद्धि एक्सप्रेसवे पर पिछले छह महीने में हुई सड़क दुर्घटनाओं में कुल 88 लोगों की जान गई है, जिनमें से 25 लोगों की मौत पिछले महीने एक निजी बस के डिवाइडर से टकराने के कारण उसमें आग लगने से हुई.

    इस हादसे पर पीएम नरेन्द्र मोदी ने शोक जताया. इस हादसे में जिन श्रमिकों की मौत हुई है उनके परिजनों की प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष से दो-दो लाख रुपये और घायलों को 50-50 हजार रुपये का मुआवजा दिया जाएगा. पीएम मोदी ने एक ट्वीट करते हुए कहा कि ‘‘महाराष्ट्र में हुआ हादसा अत्यंत पीड़ादायक है. इसमें जिन लोगों ने अपने प्रियजनों को खो दिया है, उनके प्रति मैं अपनी शोक-संवेदना व्यक्त करता हूं. घायलों के जल्द स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’’

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -
    Google search engine

    Most Popular

    Recent Comments