Wednesday, July 24, 2024
Homeदिल्लीआजादी के लाल किले पर जश्न से कांग्रेस का बायकाट, ये रही...

आजादी के लाल किले पर जश्न से कांग्रेस का बायकाट, ये रही वजह ?

दिल्ली। भारत की आजादी को 76 साल पूरे हो गए. 15 अगस्त 2023 को भारत ने अपना 77वां स्वतंत्रता दिवस मनाया. आजादी के जश्न के मौके पर राजधानी में लाल किले में भव्य कार्यक्रम किया. लाल किले की प्राचीर से तिरंगा झण्ड़ा फहराया. लेकिन इस कार्यक्रम के दौरान कांग्रेस ने हिस्सा नही लिया. कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे की कुर्सी भी खाली नजर आई. साथ ही कांग्रेस पार्टी की चेयरपर्सन सोनिया गांधी औऱ राहुल गांधी भी इस पार्टी में शामिल नही हुए.

इस वजह से नही हुए शामिल

कांग्रेस पार्टी की और से यह बयान आया है कि उनको पार्टी के मुख्यालय पर  भी झण्डारोहण करना था साथ ही कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष खरगे अपनी सुरक्षा कारणों की वजह से जश्न में शामिल नही हो पाए. खरगे ने कहा मुक्षे प्रोटोकॉल के हिसाब से सुबह 9 बजकर 20 मिनिट पर झण्डा फहराना था. इस वजह से वे लाल किले के जश्न में शामिल नही हो पाए. साथ ही सुरक्षा कारणों को लेकर भी खरगे ने कहा कि पीएम का प्रोटोकाल इतना अधिक होता है कि पीएम के जाने से पहले किसी को भी जाने नही दिया जाता है…..

इस पर भाजपा ने निशाना साधते हुए कहा कि कांग्रेस पार्टी परिवार से ऊपर की सोचते ही नही है उनके लिए देश से पहले परिवार है. खरगे के बयान पर बीजेपी ने इसे बहानेबाजी बताते हुए केंद्रीय मंत्री पीयूष गोयल ने कहा कि कांग्रेस ने एसा पहली बार नही किया इससे पहले जब संसद भवन की नई बिल्डिगं का लोकार्पण हो रहा था तब भी कांग्रेस के नेता नही पहुंचे थे. पीयूष गोयल ने कहा कि कांग्रेस ने आज 140 करोड़ देशवासियों का अपमान किया है

कांग्रेस परिवार का आजादी के जश्न में शामिल नही होना यही दर्शाता है कि कांग्रेस और पीएम मोदी के बीच में खाई कितनी गहरी है फिलहाल इस मुद्दे का राजनीतिक हवा मिल गई है देखना यह होगा की क्या सच में खरगे या काग्रेस का आलाकमान से निर्देश मिले थे जश्न में नही जाने के या फिर कुछ और ?

RELATED ARTICLES

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

- Advertisment -
Google search engine

Most Popular

Recent Comments