Friday, May 24, 2024
More
    Homeताजा खबरउत्तराखंड में फिर बारिश का कहर, तीन की मौत, 10 लापता, चारधाम...

    उत्तराखंड में फिर बारिश का कहर, तीन की मौत, 10 लापता, चारधाम यात्रा को लेकर बड़ा अपडेट

    देहरादून। उत्तराखंड में बारिश एक बार फिर से कहर मचा रही है। मूसलाधार बारिश जारी रहने के बीच वर्षा संबंधी अलग-अलग घटनाओं में तीन व्यक्तियों की मौत हो गयी जबकि 10 अन्य लोग लापता हो गए। विभिन्न क्षेत्रों में हो रही मूसलाधार बारिश और भूस्खलन के चलते राष्ट्रीय राजमार्ग सहित कई सड़के अवरुद्ध हो गयीं और चारधाम यात्रा दो दिन के लिए स्थगित कर दी गयी है।

    उफान पर छोटी-बड़ी नदियां

    लगातार बारिश के कारण गंगा सहित प्रदेश की छोटी-बड़ी नदियां उफान पर हैं और बाढ़ जैसे हालात के चलते नदियों के किनारे रहने वाले लोगों को सुरक्षित स्थानों पर ले जाया गया है। रूद्रप्रयाग जिले में केदारनाथ पैदल मार्ग पर लिंचोली छानी शिविर में सोमवार तड़के भारी बारिश के कारण भूस्खलन होने से उसके मलबे की चपेट में आकर एक नेपाली मजदूर की मौत हो गयी तथा एक दुकानदार लापता हो गया।

    ऋषिकेश में भी आफत बनी बारिश

    रूद्रप्रयाग के जिला आपदा प्रबंधन अधिकारी नंदन सिंह रजवार ने बताया कि घटनास्थल पर स्थित चार दुकानें भूस्खलन के मलबे के नीचे दब गयीं जिसमें एक दुकानदार लापता हो गया। उन्होंने बताया कि लापता दुकानदार की तलाश की जा रही है। रजवार ने बताया कि इसी घटना में एक नेपाली मजदूर कपिल बहादुर की मौत हो गयी, जिसका शव बरामद किया गया है। ऋषिकेश में शिव मंदिर के पास एक बरसाती नाले में बहने से एक व्यक्ति की मृत्यु हो गयी जिसकी पहचान दिनेश पंवार के रूप में हुई है। ऋषिकेश में ही मीरानगर नाले से एक अन्य व्यक्ति का शव बरामद हुआ है, लेकिन उसकी पहचान अभी नहीं हो पायी है। दोनों शव एम्स के शवगृह में रखे गए हैं।

    बच्चों सहित बह गई मां

    ऋषिकेश के निकट ऋषिकेश बांध से नीलकंठ मार्ग पर एक रपटे पर एक कार के फिसलने से उसमें सवार एक महिला अपने दो किशोरवय बच्चों के साथ बह गयी। रविवार देर रात साढ़े 11 बजे मूसलाधार बारिश के दौरान हुई घटना के समय महिला रीना शर्मा के पति गोपाल पानी का बहाव देखने के लिए कार से उतर गए थे। पुलिस ने बताया कि एसडीआरएफ की टीम मौके पर खोजबीन में जुटी है। पौड़ी जिले के लक्ष्मणझूला क्षेत्र में मोहनचटटी में एक रिर्जॉर्ट पर भूस्खलन होने से उसके मलबे में दबकर चार-पांच व्यक्ति लापता हो गए। पौड़ी की वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक श्वेता चौबे ने बताया कि राहत एवं बचाव दल मौके पर पहुंच गए हैं और लोगों को ढूंढ़ने का अभियान जारी है।

    यहां बन रहे बाढ़ के हालात

    पुलिस ने बताया कि एक अन्य घटना में उत्तरकाशी जिले के टिकोची गांव में अतिवृष्टि के कारण पहाड़ से आया मलबा कई मकानों में घुस गया। उन्होंने बताया कि मलबे से आठ-दस मकान क्षतिग्रस्त हो गए तथा इसमें एक महिला भूमि देवी भी लापता हो गयी। चमोली जिले की जोशीमठ तहसील के पीपलकोटी में भूस्खलन होने से उसके मलबे में एक व्यक्ति के दबे होने की सूचना है। कई स्थानों पर भूस्खलन में वाहनों के दबने की भी सूचना मिल रही है। गंगा की प्रमुख सहायक नदी अलकनंदा, श्रीनगर और रूद्रप्रयाग में, मंदाकिनी नदी रूद्रप्रयाग में, गंगा नदी देवप्रयाग और मुनि की रेती तथा ऋषिकेश समेत हरिद्वार में खतरे के निशान से ऊपर बह रही है। इसके अलावा, पिंडर, बिरही, नंदाकिनी का प्रवाह भी उफान पर है जिससे बाढ़ जैसे हालात नजर आ रहे हैं ।

    यहां है बारिश का रेड अलर्ट

    मौसम विभाग ने उत्तराखंड के छह जिलों-देहरादून, टिहरी, पौड़ी, उधमसिंह नगर, नैनीताल और चंपावत में सोमवार के लिए बारिश का रेड अलर्ट तथा हरिद्वार में ऑरेंज अलर्ट जारी करते हुए भारी से बहुत भारी बारिश की चेतावनी जारी की है।

    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -
    Google search engine

    Most Popular

    Recent Comments