Friday, May 24, 2024
More
    Homeताजा खबर24 घंटे में 18 मरीजों की मौत, खौफनाक मंजर...

    24 घंटे में 18 मरीजों की मौत, खौफनाक मंजर…

    ठाणे। महाराष्ट्र में ठाणे शहर के कलवा में नगर निकाय द्वारा संचालित छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल में पिछले 24 घंटों में 18 मरीजों की मौत हो गई। निगमायुक्त अभिजीत बांगर ने बताया कि मामले की जांच के लिए समिति गठित की गई है। बांगर ने कहा कि मृतकों में 10 महिलाएं और 8 पुरुष शामिल हैं, जिनमें से 6 ठाणे शहर से, 4 कल्याण से, 3 शाहपुर से, 1-1 भिवंडी, उल्हासनगर और गोवंडी (मुंबई में) से हैं, 1 मरीज किसी अन्य जगह से है और 1 अज्ञात है। आयुक्त ने कहा कि मृतक मरीजों में से 12 की उम्र 50 वर्ष से अधिक थी।

    इससे पहले दिन में महाराष्ट्र के स्वास्थ्य मंत्री तानाजी सावंत और स्थानीय पुलिस उपायुक्त गणेश गावड़े ने छत्रपति शिवाजी महाराज अस्पताल में पिछले 24 घंटों में 17 मरीजों की मौत होने की जानकारी दी थी। बांगर ने एक संवाददाता सम्मेलन में कहा कि मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे ने स्थिति के बारे में जानकारी ली और एक स्वतंत्र जांच समिति के गठन का आदेश दिया है, जिसकी अध्यक्षता स्वास्थ्य सेवा आयुक्त करेंगे। उन्होंने कहा कि जांच समिति में कलेक्टर, निगम प्रमुख, स्वास्थ्य सेवाओं के निदेशक और सिविक सर्जन समेत अन्य शामिल होंगे।

    बांगर ने कहा कि यह समिति मौतों के नैदानिक पहलू की जांच करेगी। उन्होंने कहा कि मृतक मरीजों को गुर्दे की पथरी, पक्षाघात, अल्सर, निमोनिया, केरोसिन विषाक्तता, सैप्टीसीमिया आदि जैसी समस्याएं थीं। आयुक्त ने कहा उपचार के क्रम की जांच की जाएगी और मृतकों के परिजनों के बयान आदि दर्ज किए जाएंगे। कुछ परिजनों द्वारा लगाया गया लापरवाही का आरोप एक गंभीर मामला है, जिस पर जांच समिति गौर करेगी। उन्होंने संवाददाताओं से कहा कोविड ड्यूटी में तैनात सभी 500 ​​कर्मचारियों को संबंधित अस्पताल में स्थानांतरित कर दिया गया है और अतिरिक्त नर्सिंग स्टाफ नियुक्त किया गया है।

    वहीं, मंत्री सावंत ने कहा कि अस्पताल के डीन को इस मामले में 2 दिन में रिपोर्ट देने को कहा गया है। ठाणे नगर निकाय के एक अधिकारी ने कहा कि मौत के कारणों का विश्लेषण किया जा रहा है और निकाय के कई अधिकारी रिकॉर्ड आदि का निरीक्षण कर रहे हैं। मामले के संबंध में पुलिस उपायुक्त गणेश गावड़े ने कहा हमें पिछले 24 घंटों में 17 मौतों की जानकारी मिली है। हमें बताया गया है कि प्रति दिन सामान्य आंकड़ा 6 से 7 है। उन्होंने कहा  अस्पताल प्रबंधन ने हमें बताया कि कुछ मरीज गंभीर अवस्था में वहां पहुंचे और इलाज के दौरान दम तोड़ दिया। कुछ बुजुर्ग थे। इतनी अधिक संख्या में मौतों के कारण किसी भी अप्रिय घटना से बचने के लिए हमने अस्पताल में पुलिस की तैनाती बढ़ा दी है।

    सावंत ने कहा कि अस्पताल के डीन को पिछले 24 घंटों में 17 मौतों पर 2 दिन में रिपोर्ट देने को कहा गया है। मंत्री ने पुणे में संवाददाताओं से कहा इन 17 मरीजों में से कुल 13 आईसीयू में थे। कुछ दिन पहले, अस्पताल में 5 मरीजों की मौत हो गई थी। राज्य सरकार ने डीन से 2 दिन में रिपोर्ट देने को कहा है। सावंत ने कहा डीन की रिपोर्ट के अनुसार कार्रवाई की जाएगी। यह अस्पताल राज्य चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान विभाग के अंतर्गत आता है। इसके मंत्री हसन मुशरिफ अस्पताल पहुंच गए हैं और वह मामले को देख रहे हैं। महाराष्ट्र के मंत्री और भाजपा नेता गिरीश महाजन ने कहा कि 500 की क्षमता वाले अस्पताल में एक ही दिन में इतनी मौतें चिंता का विषय है। राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (राकांपा) के नेता और क्षेत्र के विधायक जितेंद्र आव्हाड ने अस्पताल में कुप्रबंधन का आरोप लगाते हुए कहा कि प्रशासन को तत्काल सुधारात्मक कदम उठाने चाहिए।

    अस्पताल का दौरा करने वाली राज्य मंत्री अदिति तटकरे ने मौतों को दुर्भाग्यपूर्ण बताया और कहा कि महाराष्ट्र सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए सभी प्रयास करेगी कि ऐसी घटना दोबारा न हो। ठाणे के पूर्व महापौर नरेश म्हास्के, जो एकनाथ शिंदे के नेतृत्व वाली शिवसेना के प्रवक्ता भी हैं, ने कहा कि अस्पताल पर क्षमता से अधिक भार है और 500 मरीजों की क्षमता के मुकाबले प्रति दिन 650 मरीजों का इलाज किया जाता रहा है।

    Mamta Berwa
    Mamta Berwa
    JOURNALIST
    RELATED ARTICLES

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    - Advertisment -
    Google search engine

    Most Popular

    Recent Comments